बोटी का स्कोर
75
जनता का स्कोर
रिलीज़ दिनांक 11 अगस्त, 2017
कलाकार, ,
निर्देशक
निर्माण मूल्य (बजट) ₹50 करोड़
भारत में कमाई ₹125 करोड़
दुनियाभर की कमाई ₹182 करोड़
फ़िल्म शैली,
आख़री बदलाव -

फ़िल्म का सार

यह कहानी प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी जी के स्वच्छ भारत मिशन पर बनाई कॉमेडी फिल्म है। इस कहानी में बताया है कि कैसे दो प्रेमिओं के बीच घर में टॉयलेट न होने से उनके रिश्तों में दरार आती है। इस कहानी में दिखया है कि कैसे एक लड़की घर में टॉयलेट होने के लिये लोगों को जागरुक करती है। लड़की का ससुर घर में टॉयलेट बनाने के पक्ष में नहीं था। इस कारण वह अपने ससुराल के घर को छोड़ देती है। इस बात के असर से लड़की का पति अपने घर और गॉव में टॉयलेट बनाने के मिशन में लग जाता है। क्या वह अपने मिशन में कामयाब हो पायेगा ?

कोई और सार लिखें

प्रत्येक दिन के बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन

पहला दिन₹13.10 करोड़
शनिवार₹17.10 करोड़
रविवार₹21.25 करोड़
पहला सप्ताहांत (वीकेंड)₹51.45 करोड़
सोमवार₹12 करोड़
मंगलवार₹20 करोड़
पहला हफ़्ता₹96.05 करोड़
दूसरा साफ्टाहांत₹19 करोड़
दूसरा हफ़्ता₹28.35 करोड़
भारत में कमाई (बिना टैक्स)₹125 करोड़
दुनियाभर की कमाई₹182 करोड़
इसमें ग़लती हो तो बताइए

फ़िल्म की ओर प्रतिक्रिया

Toilet - Ek Prem Katha was received very well at the box office. The film came at a time when all biggies flopped at the box office and TEPK movie became the only hope for all distributors and theatre owners.

The business was down big time but Toilet - Ek Prem Katha movie changes the complete scenario. It managed to do Brilliant collections and the reviews were amazing too.

The trending showed by this movie was very rare when the jumps from day 1 to day 3 were 45% and more. The film became one of the best movies of Akshay Kumar of all time.

फ़िल्म से तालुक रखने वाले कुछ ख़ास किससे

  • This movie is loosely based on the Swach Bharat Abhiyan Initiative by Prime Minister Narendra Modi.
  • This is the 20th Movie of Anupam Kher and Akshay Kumar together.
  • This is the 4th Movie of Neeraj Pandey with Akshay Kumar.
  • Akshay Kumar did many crazy things to promote the film. One of them was when he himself dug a toilet in Madhya Pradesh.
  • This movie was inspired by Real Life of Anita Bai Narre.
  • TEPK is not the first film to raise the issue of lack of toilets. Marathi film Yedanchini Jatra took up the same issue in 2012.

ऑफिशल ट्रेलर