बोटी का स्कोर
80
जनता का स्कोर
रिलीज़ दिनांक 7 सितम्बर, 2001
कलाकार, ,
निर्देशक
निर्माण मूल्य (बजट) ₹21 करोड़
भारत में कमाई ₹11 करोड़
दुनियाभर की कमाई ₹21 करोड़
फ़िल्म शैली,
आख़री बदलाव -

फ़िल्म का सार

शिवाजी राव एक न्यूज़ चैनल में काम करता है। वह चीफ मिनिस्टर से एक दिन का मुख्यमंत्री बनने का चैलेंज एक्सेप्ट कर लेता है। इस एक दिन में वह सभी करप्ट अफसरो और पुलिस वालों को ससपेंड कर देता है। जनता उसके काम को देख कर उसे पांच साल के लिए मुख्यमंत्री चुन लेती है। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजी का दुश्मन बन चूका है। क्या शिवाजी अपने प्यार को बचा पायेगा?

कोई और सार लिखें

प्रत्येक दिन के बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन

पहला दिन₹0.85 करोड़
शनिवार₹0.78 करोड़
रविवार₹0.96 करोड़
पहला सप्ताहांत (वीकेंड)₹2.60 करोड़
सोमवार₹0.75 करोड़
मंगलवार₹0.65 करोड़
पहला हफ़्ता₹4.81 करोड़
दूसरा हफ़्ता₹2.53 करोड़
तीसरा हफ़्ता₹1.24 करोड़
भारत में कमाई (बिना टैक्स)₹11 करोड़
दुनियाभर की कमाई₹21 करोड़
इसमें ग़लती हो तो बताइए

इन्फ़्लेशन के आँकड़े

मेहेंगाई को ध्यान में रखते हुए - BOTY के संशोधित कलेक्शन क्या है यह?
संशोधित भारतीय कलेक्शन ₹61.6 (
+50.6
) करोड़
संशोधित दुनियाभर की कलेक्शन ₹117.6 (
+96.6
) करोड़

फ़िल्म की ओर प्रतिक्रिया

नायक फिल्म अपने समय की बड़े बजट की फिल्म थी। एक बड़े बजट की फिल्म होने के कारण फिल्म से काफी उमीदें थीं। लेकिन बितरण मूल्य अच्छा न मिलने के कारण सिनेमा घरों से उसकी कमाई औसतन दर्जे तक ही सीमित रह गई थी। फिल्म को विदेशी मार्किट में बहुत पसंद किया गया जिस कारण इसकी दुनिया भर की कमाई 20 करोड़ रूपए तक पहुँच गई थी।

Full Cast & Characters

अनिल कपूरशिवाजी राव
रानी मुकर्जीमंजरी
अमरीश पुरीमुख्य मंत्री बलराज चौहान
परेश रावलIAS बंसल
पूजा बत्रालैला
सौरभ शुक्लापांडुरंग
नीना कुलकर्णीशिवाजी राव की माँ
शिवाजी शतममंजरी के पिता
जॉनी लीवरटोपी
किटीशिवाजी राव के पिता
रज़ाक खानजोनी लीवर का ससुर
सुष्मिता सेनस्पेशल अपीयरेंस "शकलाका बेबी गाना"
ओमाकुचि नरसिम्हनकंटेस्टेंट

फ़िल्म से तालुक रखने वाले कुछ ख़ास किससे

  • शिवाजी राव के किरदार के लिए पहले आमिर खान और शाहरुख़ खान पर विचार किया गया था। लेकिन बाद में यह रोल अनिल कपूर को दे दिया गया था।
  • फिल्म में आमिर खान के कीचड़ में गिरने वाले सीन को कंप्यूटर इफ़ेक्ट से बनाया गया था। वास्तव में वे एक पानी के तलाव में गिरे थे।
  • डायरेक्टर ऐस. शंकर की यह पहली हिंदी फिल्म है।
  • फिल्म की रिलीज़ डेट को दो हफ्ते आगे बढ़ाया गया था।
  • फिल्म में रानी मुकर्जी से पहले मनीषा कोइराला पर विचार किया गया था।
  • गीतकार आनंद बक्शी की यह अंतिम फिल्म थी।

और फ़िल्मे जो आपको पसंद आ सकती हैं