बोटी का स्कोर
71
जनता का स्कोर
रिलीज़ दिनांक 27 जनवरी, 1989
कलाकार, ,
निर्देशक
निर्माण मूल्य (बजट) अनुपलब्ध
भारत में कमाई ₹9 करोड़
दुनियाभर की कमाई ₹18 करोड़
फ़िल्म शैली, ,
आख़री बदलाव -

फ़िल्म का सार

शारदा के दो बेटे राम और लखन है। शारदा के पति को उसके चचेरे भाई मार देते हैं। राम और लखन एक दूसरे से बिछड़ जाते हैं। राम एक पुलिस वाला बनता है और लखन अमीर होने के सपने देखता रहता है। क्या वे अपने पिता की मौत का बदला ले पायेंगे?

कोई और सार लिखें

प्रत्येक दिन के बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन

पहला दिन₹0.10 करोड़
शनिवार₹0.06 करोड़
रविवार₹0.13 करोड़
पहला सप्ताहांत (वीकेंड)₹0.29 करोड़
पहला हफ़्ता₹0.48 करोड़
भारत में कमाई (बिना टैक्स)₹9 करोड़
दुनियाभर की कमाई₹18 करोड़
इसमें ग़लती हो तो बताइए

इन्फ़्लेशन के आँकड़े

मेहेंगाई को ध्यान में रखते हुए - BOTY के संशोधित कलेक्शन क्या है यह?
संशोधित भारतीय कलेक्शन ₹171.9 (
+162.9
) करोड़
संशोधित दुनियाभर की कलेक्शन ₹343.8 (
+325.8
) करोड़

फ़िल्म की ओर प्रतिक्रिया

राम लखन फिल्म हिंदी सिनेमा की पुरानी ब्लॉकबस्टर फिल्मों में से एक है। फिल्म को सिनेमाघरों में दर्शकों का भरपूर समर्थन मिला था। जिसके चलते फिल्म ने लाजवाब प्रदर्शन किया था और यह फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी। फिल्म की दुनिया भर की कमाई उस समय भी 18 करोड़ रूपये रही थी।

 

Full Cast & Characters

कलाकार का नामकिरदार में नाम
जैकी श्रॉफपुलिस इंस्पेक्टर राम
अनिल कपूरसुब इंस्पेक्टर लक्ष्मण प्रताप सिंह
राखीश्रीमती शारदा/राम-लखन की माँ
अमरीश पुरीभिशंबर नाथ
माधुरी दीक्षितराधा शास्त्री
डिंपल कपाड़ियागीता कशयप
गुलशन ग्रोवरकेसरिया विलायती
परेश रावलभानु नाथ
अनुपम खेरराधा के पिता
सईद जाफरीपुलिस कमिश्नर
राजा मुरादसर जॉन
दलीप ताहिलठाकुर प्रताप
अनु कपूरशिव चरण माथुर
मुकरीधोण्डू नाइ
सुभाष घईमोटरसाइकिल पर गाने वाला
सतीश कौशिककांशीराम

फ़िल्म से तालुक रखने वाले कुछ ख़ास किससे

  • फिल्म में अनिल कपूर का लखन किरदार दर्शकों को बहुत पसंद आया था।
  • फिल्म के डायरेक्टर सुभाष घई पहले शत्रुघन सिन्हा को राम के किरदार में लेना चाहते थे।
  • गुलशन ग्रोवर का केसरिया बिलायती किरदार और बदनाम डायलॉग बहुत हिट हुए थे।
  • इस फिल्म से माधुरी दीक्षित के करियर को नई उड़ान मिली थी।
  • यह फिल्म 1975 की फिल्म दीवार से प्रेरित है।
  • फिल्म के म्यूजिक के लिए डाइरेक्टर पहले आर डी बर्मन को लेना चाहते थे लेकिन बाद में उन्होंने लक्ष्मीकान्त प्यारेलाल को लिया था।
  • सोनिका गिल को शूटिंग के दौरान सुभाष घई की आलोचनायों का सामना करना पड़ा था।

और फ़िल्मे जो आपको पसंद आ सकती हैं