बोटी का स्कोर
70
जनता का स्कोर
रिलीज़ दिनांक 11 दिसम्बर, 1998
कलाकार,
निर्देशक
निर्माण मूल्य (बजट) ₹6 करोड़
भारत में कमाई ₹6 करोड़
दुनियाभर की कमाई ₹10 करोड़
फ़िल्म शैली, ,
आख़री बदलाव -

फ़िल्म का सार

मल्हार एक एक्टर बनना चाहता था लेकिन अपने पिता के विरोध के कारण वह अपनी इच्छा को दबा लेता है। वह अपूर्वा नाम की एक लड़की से प्यार करने लगता है। अपूर्वा इंस्पेक्टर निहाल जोशी से प्यार करती है। अपनी ज़िंदगी में मिली निराशाओं के कारण मल्हार अपराधी बन जाता है। क्या मल्हार ने अपराध का रास्ता चुन कर अपने साथ गलत किया है?

कोई और सार लिखें

प्रत्येक दिन के बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन

पहला दिन₹0.52 करोड़
शनिवार₹0.42 करोड़
रविवार₹0.51 करोड़
पहला सप्ताहांत (वीकेंड)₹1.45 करोड़
सोमवार₹0.42 करोड़
मंगलवार₹0.38 करोड़
पहला हफ़्ता₹2.50 करोड़
दूसरा हफ़्ता₹1.15 करोड़
तीसरा हफ़्ता₹0.63 करोड़
भारत में कमाई (बिना टैक्स)₹6 करोड़
दुनियाभर की कमाई₹10 करोड़
इसमें ग़लती हो तो बताइए

इन्फ़्लेशन के आँकड़े

मेहेंगाई को ध्यान में रखते हुए - BOTY के संशोधित कलेक्शन क्या है यह?
संशोधित भारतीय कलेक्शन ₹39.9 (
+33.9
) करोड़
संशोधित दुनियाभर की कलेक्शन ₹66.5 (
+56.5
) करोड़

फ़िल्म की ओर प्रतिक्रिया

वजूद फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा अच्छी शुरुआत नहीं की थी। हालांकि फिल्म से बहुत उमीदें थी लेकिन फिल्म सिनेमाघरों में आशा  अनुरूप दर्शकों को आकर्षित नहीं कर पाई। फिल्म ने अपनी रिलीज़ के पहले हफ्ते में 2.50 करोड़ रूपए कमाए। दूसरे हफ्ते में इसकी कमाई में 50 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी। फिल्म ने अपनी यात्रा के दौरान औसतन दर्जे का बिज़नेस किया है।

Full Cast & Characters

नाना पाटेकरमल्हार गोपाल दास अग्निहोत्री
माधुरी दीक्षितअपूर्वी चौधरी
मुकुल देवनिहाल जोशी
निहाल जोशीशालिनी
जॉनी लीवरइंस्पेक्टर रहीम खान
डॉक्टर हेमू अधिकारीमल्हार के पिता
सुहास जोशीश्रीमती अभिजीत जोशी
जगदीपबाघ सिंह
कनिकाश्रीमती चावला
संजय मिश्राकंचन (कैमियो)
परीक्षित साहनीअभिजीत जोशी
तेज सप्रूअपूर्व बॉस
शिवाजी साथमपुलिस कमिश्नर
राजीव वर्माअपूर्वा के पिता
गुलज़ारगेस्ट रोल

फ़िल्म से तालुक रखने वाले कुछ ख़ास किससे

  • मुकुल देव का किरदार शुरुआत में अनिल कपूर को देने का विचार किया गया था।
  • माधुरी दीक्षित से पहले मनीषा कोइराला को फिल्म के लिए साइन किया गया था।
  • फिल्म में नाना पाटेकर का नाम मल्हार है जो कि असल ज़िंदगी में उनके बेटे का नाम है।
  • यह डाइरेक्टर ऐन. चंद्रा की अंतिम फिल्म है। साथ में वे इस फिल्म के सहायक लेखक भी हैं।

और फ़िल्मे जो आपको पसंद आ सकती हैं