बोटी का स्कोर
85
जनता का स्कोर
रिलीज़ दिनांक 10 सितम्बर, 1987
कलाकार, ,
निर्देशक
निर्माण मूल्य (बजट) अनुपलब्ध
भारत में कमाई अनुपलब्ध
दुनियाभर की कमाई अनुपलब्ध
फ़िल्म शैली,
आख़री बदलाव -

फ़िल्म का सार

This is a silent movie with no dialogues whatsoever. An unemployed man wants to get rich. He gets lucky when he finds a rich man lying drunk in a sewer. He saves him and takes up his identity to have a taste of rich life.

कोई और सार लिखें

इन्फ़्लेशन के आँकड़े

मेहेंगाई को ध्यान में रखते हुए - BOTY के संशोधित कलेक्शन क्या है यह?
संशोधित भारतीय कलेक्शन ₹0 (
+0
) करोड़
संशोधित दुनियाभर की कलेक्शन ₹0 (
+0
) करोड़